Republic day of india 2022:गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को क्यों मनाई जाती हैं इस दिन में ऐसा क्या खास है

STUDY MATERIAL
Spread the love

Republic day of india 2022:भारत में हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाया जाता है,इस साल हम अपना 73वां गणतंत्र दिवस सेलिब्रेट करने जा रहे हैं। इस खास दिन के लिए देश की राजधानी दिल्ली सहित देश के हर कोने में ज़ोरो-शोरो से तैयारियां की जाती हैं। स्कूल-कॉलेजों में इस दिन आयोजित होने वाले प्रोगाम के लिए बच्चे तैयारियों में जुट जाते हैं।इस खास मौके पर हर साल इंडिया गेट से लेकर राष्ट्रपति भवन तक राजपथ पर भव्य परेड भी होती है। इस परेड में भारतीय सेना, वायुसेना, नौसेना आदि की विभिन्न रेजिमेंट हिस्सा लेती हैं।इन सबके बीच क्या कभी आपके मन  में ये सवाल उठा होगा कि आखिर 26 जनवरी को ही हम “गणतंत्र दिवस”क्यों मनाते हैं? तो आइए जानते हैं।

वास्तव में,दो साल से ज्यादा समय के बाद, भारत का संविधान तैयार हो गया और इसे 26 नवंबर, 1949 को संविधान सभा द्वारा स्वीकार कर लिया गया और यह 26 जनवरी, 1950 को भारत का संविधान पूरे देश में लागू हुआ था। इस संविधान को विश्व का सबसे बड़ा संविधान भी कहा जाता है। संविधान की रूपरेखा डॉक्टर भीमराव अंबेडकर ने संविधान सभा में पहली बार 1948 को प्रस्तुत की थी। बताया जाता है कि इसके निर्माण में 2 साल, 11 महीने और 18 दिन का वक्त लगा था, जिसे लगभग तीन साल भी कहा जा सकता है। संविधान के जरिए ही भारत को लोकतांत्रिक, संप्रभु और गणतंत्र देश घोषित किया गया था।यही वजह है कि हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने संपूर्ण स्वतंत्रता की प्राप्ति के लिए 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज की अवधारणा को स्वीकार किया था, जिसे ब्रिटेन से पूर्ण स्वतंत्रता की दिशा में पहला ठोस कदम माना जाता है।

1929 को पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में इंडियन नेशनल कांग्रेस के जरिये एक सभा का आयोजन किया गया था। जिसमें आम सहमति से इस बात का ऐलान किया गया कि अंग्रेजी सरकार, भारत को 26 जनवरी 1930 तक डोमिनियन स्टेटस का दर्जा दे। इस दिन पहली बार भारत का स्वतंत्रता दिवस मनाया गया था। 15 अगस्त 1947 को आजादी मिलने तक 26 जनवरी को ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता था। 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज घोषित करने की तारीख को महत्व देने के लिए 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस घोषित किया गया।

संविधान के लागू होने के बाद पहले से चले आ रहे अंग्रेजों का कानून Government of India Act (1935) को भारतीय संविधान के जरिये भारतीय शासन दस्तावेज के रूप में बदल दिया गया। इसलिए हर साल हम भारतवासी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है। 26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर एक गणतंत्र राष्ट्र बना। उसके ठीक 6 मिनट बाद 10 बजकर 24 मिनट पर डॉ. राजेन्द्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। 

इस दिन हम भारतवासी तिरंगा फहराने, राष्ट्रगान करने के साथ-साथ कई कार्यक्रमों का या तो आयोजन करते हैं!

जय हिन्द

More from us

Railway Recruitment 2022 : Click here

BSF Constable (Tradesman) recruitmentClick here

BPSC ने लोक स्वच्छता प्रबंधन पदाधिकारी के लिए निकली 286 पदों की भर्ती – Click here

BSEB 12th Math Model Paper: Download previous 5 year 12th Math model paper. , -Click here

Bihar State Exam Study Material: Complete Notes for Bihar State Exam in English. – Click here

For whatsapp group –Click here

Daily, Monthly, Yearly Current Affairs Digest, Daily Editorial Analysis, Free PDF’s & more, Join our Telegram – CLICK HERE


Spread the love